Wednesday, 24 May 2017

Zindagi / ज़िन्दगी


                           अंधेरों के बीच से ज़िन्दगी ने कहा कि देखों उजास हो रहा है -- AnujPareek

No comments:

Post a Comment