Saturday, 15 April 2017

Alwar Book Exhibition and Art Mela


अलवर पुस्तक उत्सव एवं आर्ट मेला 

अगर लेना चाहते हैं आप भी मज़ा तो पहुंच जाइये अलवर बुक एक्सिबिशन एंड आर्ट मेले में जहाँ किताबें  होंगी, साहित्य और सांस्कृतिक संध्या भी इतना ही नहीं साथ ही साथ होगा आर्ट मेला भी, जहां होगा कैरियर मार्गदर्शन और बच्चों के लिए क्रिएटिव वर्कशॉप। 
उद्घाटन समारोह शनिवार, 15 अप्रैल को सुबह 11 बजे प्रताप ऑडिटोरियम में होगा।
बुक एक्सिबिशन
(15 से 19 अप्रैल तक, सुबह 11 बजे से शाम 8 बजे तक लगातार)
नेशनल बुक ट्रस्ट, साहित्य अकादमी और प्रकाशन विभाग, भारत सरकार द्वारा प्रकाशित हज़ारों रोचक और ज्ञानवर्धक किताबें देखने व ख़रीदने हेतु उपलब्ध होंगी।
आर्ट मेला
(15 से 17 अप्रैल, सुबह 10 से 1 बजे व शाम 3 से 6 बजे तक)
आर्ट मेले में बाहर से पधारे जाने-माने कलाकार-चित्रकार फ़ाईन आर्ट्स, ड्राइंग/पेंटिंग, कैलीग्राफ़ी आदि कलाओं का प्रशिक्षण देंगे, जिसमें बच्चों समेत किसी भी आयु वर्ग के कला प्रेमी भाग ले सकते हैं।
(रजिस्ट्रेशन के लिए सम्पर्क करें-
9784457211, 9928161202, 9828111990)
कल्चरल इवनिंग 
(15 से 18 अप्रैल तक प्रतिदिन शाम 7.30 बजे से 10 बजे तक)
इन चार सांस्कृतिक कार्यक्रमों में 
15 अप्रैल- अलवर के स्कूलों द्वारा बैंड प्रस्तुति,
16 अप्रैल- विश्वप्रसिद्ध कथक नृत्यांगना नलिनी-कमलिनी द्वारा कृष्णमयी मीरा पर बैले प्रस्तुति व कथक प्रस्तुति,
17 अप्रैल- विश्वप्रसिद्ध सूफ़ी बैंड चार यार द्वारा सूफ़ी संगीतमय प्रस्तुति
18 अप्रैल- रंगमंच प्रस्तुतियाँ 
शामिल होंगे।
बच्चों के लिए क्रिएटिव एक्टिविटीज 
(16 से 18 अप्रैल, प्रतिदिन सुबह 10 से 1 बजे तक)
नेशनल बुक ट्रस्ट द्वारा आयोजित इन गतिविधियों मेंक्रिएटिव राइटिंग वर्कशॉप और स्टोरी टेलिंग वर्कशॉप शामिल है।
लिटरेरी एक्टिविटीज 
(16 से 18 अप्रैल, प्रतिदिन शाम 5 से 7 बजे)
16 अप्रैल- परिचर्चा/ गोष्ठी
17 अप्रैल- कविता पाठ
18 अप्रैल- कहानी पाठ
कैरियर गाइडेंस / ओपन सेशन 
(रविवार, 16 अप्रैल, शाम 5 से 7 बजे तक)
युवाओं/विद्यार्थियों और प्रतियोगी परीक्षाओं के अभ्यर्थियों के लिए मार्गदर्शन
बुक बैंक 
प्रदर्शनी स्थल पर एक बुक बैंक भी संचालित किया जाएगा, जहाँ आप अपनी इस्तेमाल में न आने वाली किताबें दे सकेंगे, जिन्हें बाद में ज़रूरतमंद विद्यार्थियों को निःशुल्क उपलब्ध कराया जाएगा।
आयोजक-
नेशनल बुक ट्रस्ट, भारत सरकार एवं 
ज़िला प्रशासन, अलवर


No comments:

Post a Comment