Saturday, 22 October 2016

One line by Anuj Pareek - Dhun Zindagi Ki




              
One line by Anuj Pareek- Dhun Zindagi Ki 


·        ज़िन्दगी चल ना ख्वाबों से मेरे ... 
       
·        ज़िन्दगी  एक  संगर्ष  है  और  मेरी  कहानी  इससे  कुछ  ज्यादा 
·       
  मुझे मत रोको अपनी उड़ान से उड़ने दो मुझे खुले आसमान में 
·       
 
पहचान के मायने तो तब बदलते है जब मुलाकात कामयाबी से हो



·        One line by Anuj Pareek- Dhun Zindagi Ki 

·        #AnujPareek #DhunZindagiKi #OneLine 


2 comments: