Sunday, 11 September 2016

ज़िन्दगी कॉम्प्रोमाइज़ नहीं , एडजस्टमेंट :अनुज पारीक

ज़िन्दगी कॉम्प्रोमाइज़ नहीं ,
एडजस्टमेंट मांगती है 
और हम जितना एडजस्ट करने की कोशिश करते है 
लोग हमारे उतना ही करीब होते है 
ख़ुशी खुद के खुश रहने में नही 
बल्कि असली ख़ुशी तो ये है कि हमारी वजह से कितने लोग खुश है 
अपनों कि ख़ुशी के लिए जिए फिर देखिये ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत होगी ..
मुस्कुरातें रहिये .....☺
Keep Reading & Keep Smiling ☺ 
Dhun Zindagi Ki 
ANUJ PAREEK 


Always Smile ☺ 


http://dhunzindagiki.blogspot.com

Thursday, 8 September 2016

World Literacy Day_ Dhun Zindagi Ki by Anuj Pareek




आज हम 21 वी सदी मे जी रहे है ,सब कुछ तेज़ी से बदल रहा है 
तेज़ रफ़्तार , बड़ी-बड़ी मंज़िले .
Digital Learning पर क्या कभी आपने सोचा की एसे भी कई बच्चे है जिन्हे आज भी स्कूल के द्वार नसीब नही 
आज भी उनके लिए क से मतलब कचरा है 
ये बच्चे आपको आपके गली-मोहल्ले कॉलोनी मे कही कचरा बीनते मिल जाएँगे अगर सही मायने मे देश को साक्षर बनाना है तो ज़रूरत है सबसे पहले इन बच्चो को साक्षर करने की ! 
                                                                                                                


    

Monday, 5 September 2016

Bappa Morya

Baapa bring U Good Luck 
)(appiness & Prosperity 
जय गणेश देवा

Zindagi Ki pathshala

ज़िन्दगी को शायद ही इतना खूबसूरत बना पाते ,
 अगर ज़िन्दगी सिखाने वाले गुरु ना होते

Friday, 2 September 2016

ज़िंदगी मे किसी भी मुकाम को पाने के लिए धुन का होना ज़रूरी है:-अनुज पारीक

ज़िंदगी मे किसी भी मुकाम को पाने के लिए धुन का होना ज़रूरी है!
So Stay Connect With Dhun Zindagi Ki....

http://dhunzindagiki.blogspot.in/

  ANUJ PAREEK
     anuj_@live.com 
https://wordorb.blogspot.in/